टेलीग्राम app क्या है

दोस्तों अगर आप किसी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं तब आपने संभवतः Telegram app के बारे में जरूर सुना होगा।  WhatsApp की तरह Telegram भी एक massanging app है।  यह app हालाँकि WhatsApp के इतना प्रिसिद्ध नहीं है फिर भी यह अपने आपमें एक बहुत ही प्रिसिद्ध app है।  Telegram में बहुत से ऐसे features हैं जो WhatsApp या दूसरे apps में नहीं हैं यही बात Telegram को काफी अलग और उपयोगी बनाती है।

Telegram के वर्तमान में लगभग 550 million monthly active users हैं।  डेली users की बात करें तब इसके लगभग 55.2 million डेली एक्टिव users हैं।  Telegram का औसत user लगभग 2.9 घंटे इस app पर बिताता है।

Telegram के features

आइये टेलीग्राम के कुछ features की चर्चा करते हैं।  

Account

जब आप टेलीग्राम को इस्तेमाल करने के लिये पहली बार इस पर Signup करते हैं तब आपका टेलीग्राम पर एक अकाउंट बन जाता है। आपका अकाउंट आपके Phone number से जुड़ा हुआ होता है। आप चाहें तो अपने अकाउंट का एक username भी निर्धारित कर सकते हैं।  ऐसा करने पर लोग आपको username के द्वारा भी Telegram पर सर्च कर सकते हैं और आपसे contact कर सकते हैं।  

Channel

Telegram पर आप अपना खुद का चैनल शुरू कर सकते हैं और दूसरों के channels को सब्सक्राइब भी कर सकते हैं।  जब आप किसी का चैनल सब्सक्राइब करते हैं तब यह चैनल आपके मुख्य पेज में दिखाई देता है और आपको इस चैनल में डाले जा रहे कंटेंट के बारे में तथा इसमें हो रही अन्य गतिबिधि के बारे में नोटिफिकेशन प्राप्त होते रहते हैं।  

टेलीग्राम में चैनल दो प्रकार के होते हैं।  पब्लिक चैनल और प्राइवेट चैनल।  पब्लिक चैनल ऐसे चैनल होते हैं जिनका कंटेंट कोई भी access कर सकता है।  इन चैनल्स को कोई भी Telegram पर सर्च करके इन्हें ज्वाइन कर सकता है।  दूसरी तरफ Private Telegram channels ऐसे चैनल होते हैं जिनका कंटेंट प्राइवेट होता है। किसी प्राइवेट चैनल का कंटेंट केवल इसका सब्सक्राइबर ही एक्सेस कर सकता है।  किसी प्राइवेट चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आपके पास इसकी Subscription लिंक हों चाहिए।  आप प्राइवेट चैनल को टेलीग्राम पर सर्च करके प्राप्त नहीं कर सकते हैं।  

Group

आप टेलीग्राम पर अपने खुद का ग्रुप भी बना सकते हैं। एक टेलीग्राम ग्रुप में 200, 000 सदस्य जुड़ सकते हैं यानि की इसके सदस्य बन सकते हैं।  आप किसी ग्रुप में ज्वाइन भी हो सकते हैं।  जब आप किसी टेलीग्राम ग्रुप में ज्वाइन होते हैं तब यह ग्रुप आपके मुख्य पेज पर दिखाई देने लगता है जिससे आप इसे कभी ओपन कर सकते हैं और मेंबर्स interact कर सकते हैं।  

टेलीग्राम चैनल की तरह टेलीग्राम ग्रुप भी दो प्रकार के होते है।  पब्लिक ग्रुप और प्राइवेट ग्रुप।  पब्लिक ग्रुप ऐसा ग्रुप होता है जिसमें हो रही चैट को कोई भी देख सकता है। किसी पब्लिक ग्रुप को टेलीग्राम में सर्च करके आसानी से ढूंढकर ज्वाइन किया जा सकता है।  किसी प्राइवेट ग्रुप की चैट को ग्रुप के मेंबर्स के आलावा कोई अन्य व्यक्ति एक्सेस नहीं कर सकता है। 

क्या टेलीग्राम पर illegal activities भी होती हैं ?

टेलीग्राम पर मूवीज आदि को illegal ढंग से एक दूसरे को शेयर किया जाता है। हालाँकि टेलीग्राम ऐसे चैनल्स या ग्रुप्स के खिलाफ कार्रवाई करता रहता है और ऐसे चैनल या ग्रुप की भनक लगते ही उसको बंद कर देता है।

इसके आलावा टेलीग्राम के माध्यम से लोग कई ऐसी एक्टिविटीज को भी अंजाम देते हैं जो कभी डार्क वेब पर हुआ करती थीं।  जैसे कि Illegal हथियार बेंचना आदि।  हालाँकि ऐसे चैनल या ग्रुप्स बगैरह तो टेलीग्राम पर मौजूद होने का दावा तो लोग करते हैं लेकिन ये कितने असली हैं इसके बारे में हम कुछ नहीं कह सकते।  

जैसे कई आतंकवादी गतिबिधियों को लोग WhatsApp के द्वारा भी अंजाम देते हैं वैसे ही कुछ गलत मानसिकता के लोग ऐसी गतिबिधियाँ Telegram के माध्यम से भी कर सकते हैं।   

FAQs

Telegram किसने तथा कब बनाया?

टेलीग्राम 2013 में Nikolai और Pavel Durov के द्वारा लांच किया गया था।  इससे पहले इन दो भाइयों ने VK नाम का Russian social network बनाया था।  

Telegram app इस्तेमाल करना क्या सुरक्षित है?

Telegram App इस्तेमाल करना आपके लिये कितना सुरक्षित है यह काफी हद तक आपपर निर्भर करता है लेकिन App में ऐसे features हैं जिससे यह सुरक्षित मालूम पड़ता है।  Telegram app में users की privacy का खास ख्याल रखा जाता है।  App officials के अनुसार वे इस users का डाटा किसी से share नहीं करते।

अगर आपको अपनी privacy का अधिक सुरक्षित रखना चाहते हैं तब आप app में दिए गए secret chat feature का इस्तेमाल चैट करने के लिए कर सकते हैं।  

Leave a Comment

Sign In

Register

Reset Password

Please enter your username or email address, you will receive a link to create a new password via email.